पिथौरागढ : विधानसभा 42-धारचूला,708 मतदान अधिकारी एवं 45 जोनल सेक्टर अधिकारिंयो को एल एस एम पीजी कालेज में द्वितीय सैद्धान्तिक एवं इवीएम वीवीपैट का प्रशिक्षण दिया गया। जिलाधिकारी/जिला निर्वाचन अधिकारी रीना जोशी ने प्रशिक्षण स्थल का ओचक निरीक्षण कर व्यवस्थाओ का जायजा लिया।

लोकसभा सामान्य निर्वाचन-2024 को निष्पक्ष,पारदर्शी, शांतिपूर्ण ढंग से सम्पन्न कराए जाने हेतु शुक्रवार को उप जिला निर्वाचन अधिकारी ने कहा की मतदान दिवस में पोलिंग पार्टियों के साथ साथ सेक्टर एवं जोनल मजिस्ट्रेटों की बडी जिम्मेदारी होती है साथ ही समयबद्धता और अनुशासन का विशेष ध्यान रखते हुए मतदान को निर्बाध रूप से पूर्ण कराने के लिए निर्वाचन आयोग द्वारा जारी दिशा निर्देशों का पालन करना होगा।

उन्होंने कहा कि सभी को व्यापक स्तर पर प्रशिक्षण के माध्यम से अधिकार एवं कर्तव्यों के बारे में जानकारी दी जा रही है। उन्होंने कहा पोलिंग पार्टियों की रवानगी से लेकर उन्हें संबंधित बूथों पर पहुंचने, मतदान संपन्न कराने के साथ-साथ ईवीएम एवं वीवीपैट मशीनें जमा करने तक सेक्टर मजिस्ट्रेट गंभीरतापूर्वक सक्रिय रहेंगे। ईवीएम जमा होने के बाद संबंधित रिटर्निंग आफिसरों की अनुमति से ही सेक्टर एवं जोनल मजिस्ट्रेट वापस जाएंगे। यह भी सुनिश्चित करेंगे की किसी भी अधिकारी का फोन बंद नहीं होना चाहिए। उन्होंने सेक्टर मजिस्ट्रेटों से बूथों के भ्रमण के दौरान की स्थिति के बारे में भी विस्तारपूर्वक जानकारी प्राप्त की और जरूरी निर्देश दिए। उन्होंने कहा की पोलिंग पार्टियों के मतदान केंद्र में पहुंचने के बाद किसी का भी आतिथ्य स्वीकार नहीं करेंगे। निर्वाचन के दौरान सभी कार्मिक आदर्श आचार संहिता का भलीभाती का अनुपालन करेंगे।इसके अलावा मतदान बूथों का नियमित निरीक्षण करते रहे। कहा कि सभी मजिस्ट्रेट ईवीएम व वीवी पैट का कनेक्शन, माकपोल, ईवीएम सील करने आदि को पूरी मन चित से ध्यानपूर्वक सीख लें। ताकि मतदान दिवस के दिन समस्या का तत्काल निराकरण कर सकें।
निर्वाचन में लगे सभी कार्मिकों को पूर्ण निष्ठा तथा जिम्मेदारी से कार्य करने के निर्देश दिए।

प्रशिक्षण के दौरान मास्टर ट्रेनर ने सैद्धान्तिक प्रशिक्षण में बारीकियों को समझाते हुए ईवीएम प्रशिक्षण के दौरान मतदान कार्मिक को विभिन्न प्रपत्र भरने, ईवीएम को ऑन व ऑफ करने व सील करने के साथ ही बीयू, सीयू तथा वीवीपैट को संयोजित करने, खोलने और सील करने की प्रक्रिया के बारे में विस्तार से जानकारी देते हुए हैंड्स ऑन प्रशिक्षण दिया गया। इसके साथ ही मास्टर ट्रेनरों ने मतदान हेतु सामग्री प्राप्त के तरीके, मतदान से पूर्व बूथ पर की जाने वाली कार्यवाही, मतदान शुरू करने, मतदान समाप्ति सहित संपूर्ण मतदान प्रक्रियाओं की विस्तार से जानकारी दी गई। मास्टर ट्रेनर ने प्रशिक्षण के दौरान कार्मिकों की शंका का निदान भी किया।
इस दौरान नोडल अधिकारी मास्टर ट्रेनर जोनल, सैक्टर मजिस्ट्रेट, मतदान कार्मिक उपिस्थत रहें।