लोकसभा सामान्य निर्वाचन-2024 की तैयारियों को लेकर जिला निर्वाचन अधिकारी हिमांशु खुराना ने मंगलवार को सभी एआरओ, नोडल एवं सहायक नोडल अधिकारियों की बैठक ली। जिलाधिकारी ने निर्देशित किया कि आयोग के दिशा निर्देशों के अनुरूप निर्वाचन कार्यो से जुड़ी सभी व्यवस्थाओं को त्रुटि रहित, समयबद्वता के साथ सुनिश्चित किया जाए।

जिला निर्वाचन अधिकारी ने सभी एआरओ को निर्देश दिए कि सेक्टर पुलिस अधिकारियों के साथ समन्वय बनाते हुए निर्वाचन आयोग की गाइडलाइन के अनुरूप वनरेबल एवं क्रिटिकल मतदेय स्थलों की मैपिंग सुनिश्चित की जाए। मतदेय स्थलों पर मूलभूत सुविधाएं यथा बिजली, पानी, शौचालय, रैम्प इत्यादि व्यवस्थाएं पूरी की जाए। पिछले लोकसभा चुनाव जिन मतदेय स्थलों पर 50 प्रतिशत से कम मतदान हुआ है, वहां पर ऐसे परिवार जो पोलिंग बूथ से बाहर निवास करते है, उनसे संपर्क करते हुए मतदान के लिए प्रेरित किया जाए। आदर्श आचार संहिता लागू होने के बाद निर्धारित समयान्तराल पर की जाने वाली कार्रवाई के लिए आवश्यक सामग्री एवं संसाधन रखते हुए टीम गठित की जाए। पोलिंग पार्टियों के बूथ तक जाने और वापसी और ईवीएम सुरक्षा के संबंध में प्लान तैयार किया जाए। परिवहन व्यवस्था के लिए रूट चार्ट के साथ वाहनों का अधिग्रहण सुनिश्चित किया जाए। ऐसे नागरिक जिनको 18 वर्ष पूर्ण हो गए है उनके नाम मतदाता सूची में जोड़ा जाए। मतदान कार्मिकों को वोट देने के लिए पोस्टल बैलेट और ईडीसी की सम्मपूर्ण व्यवस्थाएं की जाए। इस दौरान लेखन सामग्री, कन्ट्रोल रूम, एमसीएमसी, निर्वाचन प्रशिक्षण, माइग्रेट मतदाता/मतदान स्थल, आबकारी मॉनिटिरिंग, ईवीएम/वीवीपैट सहित अन्य निर्वाचन से जुडे कार्यो को लेकर नोडल अधिकारियों को जरूरी निर्देश दिए गए। उन्होंने सभी नोडल अधिकारियों से कहा कि अपने-अपने कार्यो का भली भांति अध्ययन कर लें, ताकि किसी भी प्रकार की त्रुटि रहे।

बैठक में अपर जिला निर्वाचन अधिकारी अभिनव शाह, उप जिला निर्वाचन अधिकारी विवेक प्रकाश, सभी तहसीलों से सहायक रिटर्निग अधिकारी एवं निर्वाचन व्यवस्थाओं से जुड़े सभी नोडल एवं सहायक नोडल अधिकारी उपस्थित थे।