जनपद में आगामी मई माह से शुरू होने जा रही चारधाम यात्रा की तैयारियों को लेकर जिलाधिकारी हिमांशु खुराना ने समस्त विभागीय अधिकारियों की बैठक ली। उन्होंने निर्देशित किया कि चारधाम यात्रा मार्ग पर संचालित सभी निर्माण एवं मरम्मत कार्यो को यात्रा से पहले प्राथमिकता पर पूर्ण किया जाए।

जिलाधिकारी ने निर्देशित किया कि श्रद्धालुओं के लिए यात्रा मार्ग पर सभी प्रकार की व्यवस्थाएं और सुविधाएं सुनिश्चित की जाए। यात्रा शुरू होने से पहले बिजली-पानी की आपूर्ति सुचारु की जाए। जिलाधिकारी ने एचआईडीसीएल, बीआरओ तथा लोनिवि के अधिकारियों को निर्देशित किया कि अपने-अपने क्षेत्रों में यात्रा मार्ग एवं वैकल्पिक मार्गो पर संचालित निर्माण कार्यों को शीघ्र पूरा करें। भूस्खलन प्रभावित क्षेत्रों में ट्रीटमेंट, मलवा निस्तारण के साथ सड़क डामरीकरण का कार्य किया जाए। एसडीएम, पुलिस एवं परिवहन अधिकारी यात्रा मार्ग का संयुक्त निरीक्षण करते हुए संवेदनशील स्थलों को ठीक कराना सुनिश्चित करें। यात्रा मार्ग पर शौचालयों की मरम्मत के साथ सफाई व्यवस्थाओं का निरीक्षण किया जाए। कही पर अतिरिक्त शौचालय बनाने की आवश्यकता हो, तो तत्काल इसका काम शुरू किया जाए। जिलाधिकारी ने कहा कि जहां पर सड़क बंद होने की संभावना रहती है उसके दोनों तरफ यात्रियों के भोजन हेतु पर्याप्त मात्रा में ड्राइ राशन एवं फूड पैकेट का भंडारण किया जाए। ताकि श्रद्वालुओं को सुलभता से भोजन की व्यवस्था की जा सके।

जिलाधिकारी ने बद्रीनाथ नगर पंचायत के अधिशासी अधिकारी निर्देशित किया कि बद्रीनाथ धाम में श्रद्धालुओं के लिए मंदिर आने जाने वाले क्षतिग्रस्त पैदल मार्ग का निर्माण किया जाए। जल संस्थान को मास्टर प्लान निर्माण कार्य के दौरान क्षतिग्रस्त सीवर लाइन की मरम्मत और स्वच्छ पेयजल हेतु पर्याप्त संख्या में वाटर एटीएम लगाने के निर्देश दिए। बद्रीनाथ तथा हेमकुण्ड यात्रा मार्ग के सभी स्टैण्ड पोस्ट, टीटीएसपी, पीटीएसपी को सुचारू करने तथा प्रमुख स्थानों पर वाटर एटीएम की व्यवस्था करने को कहा। हेमकुंड यात्रा मार्ग पर घोड़ो के लिए गरम पानी की व्यवस्था बनाने के निर्देश दिए। विद्युत विभाग को बद्रीनाथ में विद्युत पोलों की शिफ्टिंग कार्य पूरा करने को कहा।

जिलाधिकारी ने कहा कि श्रद्धालुओं की यात्रा को सुगम बनाने के लिए ट्रैफिक मैनेजमेंट, नए पार्किंग स्थलों के चयन, आवास एवं यात्रियों की सुविधा के लिए साइनेज के साथ संचार व्यवस्था को सुदृढ किया जाए। यात्री पंजीकरण, टोकन काउंटर, इको शुक्ल के लिए पाण्डुकेश्वर में व्यवस्था की जाए। बद्रीनाथ तथा हेमकुंड यात्रा मार्ग पर बेसिक मेडिकल उपकरणों सहित चिकित्सकों की तैनाती हेतु सीएमओ को अभी से प्लान तैयार करने को कहा। पंजीकृत वाहनों की फिटनेस तथा ग्रीन कार्ड निर्गत किए जाने हेतु परिवहन विभाग को विशेष अभियान चलाने के निर्देश दिए गए।

नगर निकायों को यात्रा पढाव एवं यात्रा मार्गो पर ठोस अपशिष्ट प्रबंधन एवं सफाई व्यवस्थाओं को सुदृढ़ बनाने के निर्देश दिए। पर्यटन एवं सुलभ इंटरनेशनल को यात्रा मार्ग पर शौचालयों की मरम्मत, निर्माण के साथ ही विद्युत व पानी की आपूर्ति एवं धर्मशाला, आश्रम, होटलों में मूल्य निर्धारण के साथ रेट लिस्ट चस्पा कराने हेतु आवश्यक कार्रवाई करने के निर्देश दिए। पूर्ति अधिकारी, बाटमाप, फूड सेफ्टी एवं राजस्व अधिकारी को यात्रा से पहले संयुक्त निरीक्षण करते हुए खाद्य सामग्री की जांच सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।

बैठक में मुख्य विकास अधिकारी अभिनव शाह, अपर जिलाधिकारी विवेक प्रकाश, बीकेटीसी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी योगेन्द्र सिंह, एसडीएम आरके पांडेय, एसडीएम चन्द्रशेखर बशिष्ट, सीओ पुलिस प्रदीप शाह, एसीएमओ डॉ एमएस खाती सहित सड़क, विद्युत, पेयजल, नगर निकाय आदि विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।