जनपद वासियों की समस्याओं का त्वरित निराकरण करने के उद्देश्य से जिलाधिकारी सौरभ गहरवार की अध्यक्षता में विकास भवन सभागार में जन संवाद/जनता मिलन कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस अवसर पर विभिन्न क्षेत्रों से आए ग्रामीणों द्वारा विभिन्न विभागों से संबंधित कुल 29 शिकायतें दर्ज की गई। जिसमें 12 शिकायतों का मौके पर ही निराकरण किया गया जबकि शेष शिकायतों का निस्तारण करने के लिए संबंधित विभागों को प्रेषित किया गया।

आयोजित जनता मिलन कार्यक्रम में ग्राम प्रधान जैली राधा देवी ने पाली में आंगनवाड़ी भवन बनाए जाने की मांग की। इसके साथ ही उन्होंने वर्ष 2013 की आपदा में क्षतिग्रस्त कई योजनाओं के पुर्ननिर्माण कार्य न होने संबंधी शिकायत भी दर्ज की। कुमड़ी गांव के धर्मेंद्र सिंह, सुंदर सिंह, विनोद सिंह व प्रदीप सिंह आदि ने जल जीवन मिशन के तहत आठ परिवारों को पेयजल कनेक्शन से वंचित रखे जाने की शिकायत दर्ज की। कुमड़ी गांव के ही दिगपाल सिंह ने गांव के बगड़वाल चैक सौंदर्यीकरण कार्य करने वाले मजदूरों की धनराशि नहीं मिलने की शिकायत दर्ज की। वार्ड नं.-3 कोटेश्वर निवासी संतोष सिंह मेवाल ने विकास भवन व चोपड़ा मोटर मार्ग की दयनीय स्थिति को सुधारने तथा वार्ड नं.-6 पुनाड़ की नीलम देवी ने नगर पालिका द्वारा अधिगृहित की गई दुकान से आर्थिक स्थिति ठीक न होने व बैंक से लिए गए ऋण का भुगतान न कर पाने संबंधी शिकायतों के निस्तारण हेतु प्रार्थना-पत्र दिया। चैंरा डडोली के दरवान सिंह ने पैतृक आवास के पुराने व जर्जर होने से व कोलू निवासी विनोद सिंह ने विकलांग व्यक्ति होने के कारण प्रधानमंत्री आवास की मांग की।

जिलाधिकारी ने संबंधित विभागों को निर्देश दिए हैं कि जनता मिलन कार्यक्रम में जो भी शिकायतें व समस्याएं दर्ज हो रही हैं उनका निराकरण समयबद्धता के साथ त्वरित गति से करना सुनिश्चत करें। इसमें किसी भी दशा में कोई विलंब न किया जाए।उन्होंने यह भी निर्देश दिए हैं कि जिन समस्याओं पर स्थलीय निरीक्षण एवं मौका मुआवना किया जाना है उसमें संबंधित विभाग आपसी समन्वय के साथ निर्धारित की गई तिथि के अनुसार स्थलीय निरीक्षण कर वस्तुस्थिति की जानकारी से जिला कार्यालय को अवगत कराने के निर्देश दिए गए। उन्होंने यह भी निर्देश दिए हैं कि जिन शिकायतों का निस्तारण एवं जो भी कार्यवाही की गई है इसकी जानकारी जिला कार्यालय एवं संबंधित शिकायतकर्ता को अनिवार्य रूप से अवगत करवाया जाए।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री जन समर्पण पोर्टल का भी प्रस्तुतिकरण भी किया गया जिसमें तहसील दिवसों एवं जनता मिलन एवं अन्य पोर्टलों के माध्यम से प्राप्त होने वाली शिकायतों के निस्तारण एवं की गई कार्यवाही के संबंध में उपस्थित अधिकारियों को जानकारी उपलब्ध कराई गई।
सीएम हेल्पलाइन में दर्ज शिकायतों की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी ने संबंधित विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि एल-1 एवं एल-2 के स्तर पर जो भी शिकायतें लंबित हैं उनका निस्तारण तत्परता से करना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि विभिन्न विभागों में एल-1 पर 189 तथा एल-2 पर 43 शिकायतें निस्तारण हेतु लंबित हैं। जिलाधिकारी ने सीएम हेल्पलाइन में प्राप्त शिकायतों का निस्तारण भी शीघ्रता से सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। इसमें किसी भी प्रकार की कोई ढिलाई न बरती जाए।

इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी नरेश कुमार, अपर जिलाधिकारी श्याम सिंह राणा, परियोजना निदेशक विमल कुमार, उप जिलाधिकारी रुद्रप्रयाग आशीष घिल्डियाल, जखोली भगत सिंह फोनिया, ऊखीमठ अनिल कुमार शुक्ला, पुलिस उपाधीक्षक प्रबोध कुमार घिल्डियाल, शिकायत प्रकोष्ट प्रभारी विनोद कुमार सहित जनपद स्तरीय अधिकारी व कर्मचारी एवं विभिन्न क्षेत्रों से आए ग्रामीण मौजूद रहे।