करोना काल से पहले वरिष्ठ नागरिको को 40% से 50% तक रेलवे किराए में छूट दी जाती थी जिसे कारोना काल के बाद‌ बंद कर दिया गया है किराये में छूट की सुविधा होनी चाहिए

करोना काल से पहले एक्सप्रेस ट्रेनों में आम जनता के लिए साधारण कोच और स्लीपर कोच काफी संख्या में होते थे जिसके कारण आम जनता को यात्रा में सुविधा थी लेकिन मौजूदा समय में ट्रेनों में साधारण और स्लीपर कोच कम कर उनके स्थान पर एसी कोच लगा दिए हैं किराया अधिक होने के कारण आम जनता का ट्रेन के ए सी कोच में सफर करना मुश्किल हो गया है साधारण कोच और स्लीपर कोच की संख्या आमयात्री हित में बढ़ाई जाए

रेलवे स्टेशनों के आधुनिकरण और ऊंची करण के लिए रेलवे विभाग ने करोड रुपए खर्च किए है तथा साधारण ट्रेनों को स्पेशल ट्रेनो में बदलकर किराये में वृद्धि कर दी गई है लेकिन छोटे रेलवे स्टेशनों पर द्रेनो के स्टॉपेज खत्म कर दिए गए हैं इन क्षेत्रो की जनता को रेल द्वारा यात्रा करने की सुविधा बंद हो गयी है सभी छोटे रेलवे स्टेशनो पर स्पेशल ट्रेनों के सटोपेज बहाल किये जांय
हरिद्वार रेलवे स्टेशन से मुरादाबाद और पंजाब रूट के लिए सुबह के समय कोई ट्रेन नहीं है यात्री हित में इन रूटो पर सुबह ट्रेनो का संचालन कराया जाए

सुबह हरिद्वार रेलवे स्टेशन से मुरादाबाद रेलवे स्टेशन के लिए डी एम यू ट्रेन का संचालन कराया जाए जिससे विभाग को राजस्व और आम जनता को यात्रा का लाभ मिले ट्रेन संचालन करना दोनो के हित में आति आवश्यक है।