वर्ष 2024 में श्री केदारनाथ धाम यात्रा को सुगम एवं सुव्यवस्थित ढंग से संचालित करने के लिए की जाने वाली व्यवस्थाओं एवं सुविधाओं के लिए जिलाधिकारी सौरभ गहरवार की अध्यक्षता में जिला कार्यालय एनआईसी कक्ष में यात्रा से जुड़े अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक आयोजित करते हुए संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि केदारनाथ धाम में दर्शन करने आने वाले तीर्थ यात्रियों को सभी मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध हों इसके लिए जिस स्तर से जो भी व्यवस्थाएं एवं सुविधाएं उपलब्ध कराई जानी हैं उसके लिए अपनी-अपनी कार्ययोजना एवं प्लान तैयार कर उपलब्ध कराने के निर्देश दिए।
जिलाधिकारी ने निर्देश दिए हैं कि जिस स्तर से जो भी व्यवस्थाएं व सुविधाएं उपलब्ध कराई जानी हैं वह व्यवस्थाएं अभी से सुनिश्चित कर ली जाएं ताकि यात्रा शुरू होने से पूर्व ही सभी तैयारियां व व्यवस्थाएं सुनिश्चित कर ली जाएं। उन्होंने यात्रा मार्ग एवं केदारनाथ धाम में बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराए जाने के लिए तैनात किए जाने वाले डाॅक्टरों एवं उपकरणों के संबंध में जो भी आवश्यकता है उसके लिए प्लान तैयार करते हुए जो भी धनराशि की आवश्यकता है उसके लिए आवश्यक प्रस्ताव उपलब्ध कराने के निर्देश दिए गए।
जिलाधिकारी ने अधिशासी अधिकारी नगर पालिका, नगर पंचायत, अपर मुख्य अधिकारी जिला पंचायत को निर्देश दिए हैं कि सभी अधिकारी अपने-अपने क्षेत्रों में बेहतर सफाई व्यवस्था सुनिश्चित कराएंगे इसके लिए अपने-अपने क्षेत्रों में यात्रा रूट की बेहतर सफाई के लिए क्षेत्रवार पर्यावरण मित्रों की तैनाती के लिए प्लान तैयार करने के निर्देश दिए। उन्होंने निर्देश दिए हैं कि जो पर्यावरण मित्र लगाए जाएंगे उनके लिए ड्रेस कोड तैयार करने के लिए जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी को आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिए गए।
श्री केदारनाथ यात्रा मार्ग में संचालित हो रहे घोड़े-खच्चरों के लिए बनाए जा रहे शेडों को भी समय से तैयार करने के निर्देश डीडीएमए एवं ग्रामीण निर्माण विभाग को दिए। यात्रा मार्ग में बेहतर विद्युत व्यवस्था सुनिश्चित कराने के निर्देश विद्युत विभाग को दिए गए। इसके साथ ही उरेड़ा को भी सौर ऊजा लाईट लगाए जाने हेतु आवश्यक प्लान तैयार करने के निर्देश दिए गए। पेयजल व्यवस्था को दुरस्त करने के लिए जो भी लाइनें क्षतिग्रस्त हैं उनको दुरस्त करने के लिए जो भी धनराशि की आवश्यकता है अधिशासी अभियंता जल संस्थान को उसका प्रस्ताव तैयार कर प्रस्तुत करने के निर्देश दिए गए। उन्होंने यात्रा मार्ग में जाम की स्थिति न हो इसके लिए पार्किंग व्यवस्था को सुव्यवस्थित करने के लिए पुलिस एवं जिला पंचायत व पर्यटन को आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिए गए।
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी नरेश कुमार, अपर जिलाधिकारी श्याम सिंह राणा, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ. एचसीएस मार्तोलिया, पुलिस उपाधीक्षक हर्षवर्धनी सुमन, मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डाॅ. आशीष रावत, जिला पर्यटन अधिकारी राहुल चैबे, अधिशासी अभियंता ग्रामीण निर्माण विभाग मीनल गुलाटी सहित संबंधित अधिकारी मौजूद रहे।