जिलाधिकारी रीना जोशी ने सोमवार को फसल वित्तमान निधारण हेतु जिला स्तरीय तकनीकी समिति की कलेक्ट्रेट में बैठक लेते जनपद मे फसलों की अनुमानित कीमत और अनुमानित उत्पादन के आधार पर उसका मूल्य वित्तमान निर्धारण की विस्तृत जानकारी लेते हुए संबंधित अधिकारिंयो को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।

जिलिधिकारी ने बैठक मे जिले मे उत्पादित फसलों की अनुमानित दाम और उत्पादन के आधार पर उनके वित्तमान निर्धारित करने,किसानों को फसलों पर बैंकों से लोन दिये जाने के अलावा कृषि ऋण सूची सभी बैंकों को भेजे जाने,किसानों को समय पर लोन देने के लिए किसान क्रेडिट कार्ड बैंकों द्वारा जारी करने, किसानों की
जमीन के आधार पर उनके लोन की सीमा तय करने के निर्देश दिए।

किसान क्रेडिट कार्ड (केसीसी) से कृषि ऋण की सुलभ उपलब्धता ,साथ ही, प्रत्येक किसान को केसीसी की उपलब्धता सुनिश्चित कराने ताकि सभी किसानों को समय पर ऋण उपलब्ध किया जा सके व ज़िला स्तर पर तय किए जाने वाले वित्तमान प्रत्येक फसल के लिए पात्र ऋण और किसान की पहचान का एक आधार बन सके।   बैठक में मुख्य विकास अधिकारी नंदन कुमार, मुख्य कृषि अधिकारी रितु टम्टा, उद्यान अधिकारी त्रिलोकी राय, मत्स्य अधिकारी राकेश चलाल, पशुपालन अधिकारी, आदि संबंधित अधिकारी मौजूद थे।