देहात की पगडंडी पर लोगों से छीना झपटी कर लूट के संबंध में मिल रही सूचनाओं पर कोतवाली मंगलौर पर मिथुन पुत्र जोगिंदर निवासी नगला सलारु क़ो दिनांक 30.12.2023 को अंतर्गत धारा 394 आईपीसी बनाम अज्ञात तीन बदमाश तथा मोहित पुत्र अशोक कुमार निवासी कुमराडी द्वारा दिनांक 01.02.2024 को स्वयं के साथ लूट की घटना के संबंध में अंतर्गत धारा 392, 411, 34 आईपीसी बनाम अज्ञात पंजीकृत कराया गया था।

शिकायतों की हकीकत सामने लाने के लिए एसएसपी प्रमेन्द्र डोबाल द्वारा मातहतों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गए थे। इन्ही निर्देशों पर गठित पुलिस टीम ने विभिन्न माध्यमों से जानकारी इकट्ठा कर दिनांक 04.02.2024 को अगली लूट होने से पहले ही संभावित स्थल पर पहुंचकर लुटेरों को रंगे हाथ दबोचने के लिए टीम उक्त स्थान के चारों तरफ फैल गई।

कुछ समय बाद ही हाथ में डंडा लिए 03 युवक मौके पर पहुंचे तो पुलिस टीम ने घेराबंदी कर तीनों को दबोच लिया। लंबे चौड़े दिख रहे तीनों से पूछताछ में पता चला कि तीनों युवक नाबालिक हैं और पैसा कमाने के शौक के चलते ये तीनों मिलकर अकेले राहगीर के सर पर डंडा मार कर पैसे लूट लेते हैं। फिर लूट का पैसा तीनों मिलकर होटल में अच्छा-अच्छा खाना खाने एवं अपने शौक पूरा करने के लिए करते थे।

पुलिस टीम ने तीनों नाबालिकों से विधिनुसार नियमों का पालन करते हुए लूटा गया मोबाइल, लूट की घटना में प्रयुक्त डंडा और लूटी गई नगदी में से बचे हुए ₹1500/- भी बरामद किए।

ऑनलाइन की इस दुनिया में नाबालिकों का दिन-रात अनर्गल वीडियो देखना एवं गलत राह पकड़ना बड़ा आसान होता है इसलिए जरूरी है कि प्रत्येक माता-पिता यह ध्यान अवश्य रखें कि उनके बच्चे क्या कर रहे हैं और किस दिशा में आगे बढ़ रहे हैं।

सफल खुलासे पर स्थानीय जनता द्वारा कोतवाली मंगलौर पुलिस की त्वरित कार्रवाई एवं टीम क्षमता की सराहना की।