प्रसार प्रशिक्षण केंद्र ग्राम्य विकास थरकोट में जनपद पिथौरागढ़ व चंपावत के 64 राजस्व उप निरीक्षकों का 1 फरवरी गुरुवार से 9 माह का सैद्धांतिक प्रशिक्षण प्रारंभ हुआ। जिलाधिकारी रीना जोशी ने राजस्व उपनिरीक्षकों के सैद्धांतिक प्रशिक्षण का द्वीप प्रचलित कर शुभारंभ किया। प्रशिक्षण में जनपद पिथौरागढ़ के 37 व चंपावत के 27 राजस्व उप निरीक्षक प्रशिक्षण ले रहे हैं।

राजस्व उप निरीक्षकों को संबोधित करते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि राजस्व उप निरीक्षकों का कार्य अति महत्वपूर्ण है, राजस्व विभाग का आधार व महत्वपूर्ण कड़ी उप निरीक्षक राजस्व ही होते हैं। इसलिए प्रशिक्षण को गंभीरता से लेते हुए पूरे मनोयोग से प्रशिक्षण ले। उन्होंने कहा प्रशिक्षण में भूलेख, भू अर्जन, भूमि का प्रकार, भू राजस्व, निर्वाचन, आरटीआई, एलआर एक्ट सहित अनेक महत्वपूर्ण विषयों का प्रशिक्षित प्रशिक्षकों द्वारा राजस्व निरीक्षकों को प्रशिक्षण दिया जाएगा। जो आपके जीवन भर काम आएगा ,इसलिए गहनता व पूर्ण मनोयोग से प्रशिक्षण लें, ताकि बाद में कार्य करने में किसी भी प्रकार की कठिनाई न हो। उन्होंने निर्देश दिए कि राजस्व उपनिरीक्षकों को प्रशिक्षण के दौरान योग, खेल के साथ ही फील्ड विजिट व सर्वे कार्य भी कराया जाए। उन्होंने कहा प्रशिक्षण संबंधित कोई भी कठिनाई व समस्या हो तो उसका तुरंत समाधान किया जाएगा।

इसके उपरांत जिलाधिकारी ने प्रसार प्रशिक्षण केंद्र के छात्रावास भवनों का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने आधी अधूरी व्यवस्थाओं पर नाराजगी व्यक्त करते हुए हॉस्टल इंचार्ज अर्चना ढौंडियाल को सभी व्यवस्थाएं शीघ्र दुरुस्त करने के साथ ही बालिका हॉस्टल में फर्नीचर, अलमारी, परदे, शौचालय व्यवस्थाएं ठीक करने के निर्देश मौके पर दिये । उन्होंने शौचायलयों की नियमित सफाई कराने के निर्देश भी दिए। उन्होंने अपर जिलाधिकारी को प्रत्येक दिन प्रसार प्रशिक्षण केंद्र की व्यवस्थाओं का निरीक्षण करने के भी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि प्रशिक्षकों को समय से निर्धारित भोजन मीनू के अनुसार भोजन व जलपान दिया जाए साथ ही सफाई व्यवस्था दुरुस्त रखने के भी निर्देश दिए । उन्होंने कहा प्रशिक्षण केंद्र आने जाने वालों का गेट पर पूर्ण ब्यौरा रखा जाए तथा प्रशिक्षणार्थियों के भी प्रशिक्षण केंद्र के बाहर जाने वह अंदर आने के समय का भी पूर्ण ब्यौरा रखा जाए।

इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी/ नोडल प्रशिक्षक डॉ0 एस0 के0 वरनवाल, तहसीलदार/ सहायक नोडल जगदीश नेगी सहित प्रशिक्षक व प्रशिक्षणार्थी मौजूद थे।