मुख्य विकास अधिकारी नरेश कुमार की अध्यक्षता में विकास भवन सभागार में जन संवाद/जनता मिलन कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस अवसर पर विभिन्न विभागों से संबंधित कुल 13 शिकायतें दर्ज की गई। इनमें 6 शिकायतों का मौके पर ही निराकरण किया गया जबकि शेष शिकायतों का निस्तारण करने के लिए संबंधित विभागों को प्रेषित किया गया।
आयोजित जनता मिलन कार्यक्रम में तिमली निवासी जीत सिंह रौथाण ने गदनू को सड़क मार्ग से जोड़ने हेतु सर्वेक्षण होने के बाद भी कार्य शुरू नहीं होने की शिकायत दर्ज की। मनसूना निवासी पूरण लाल ने उनकी किसान सम्मान निधि व वृद्धावस्था पेंशन न आने की समस्या से अवगत कराया। बांसी गांव के भरत सिंह ने उनके द्वारा गौशाला निर्माण करवाने के बाद भी स्वीकृत धनराशि का भुगतान न करने, जग्गी कांडई निवासी अनूप सिंह पीएमजीएसवाई के तहत उनके आवासीय भवन के ऊपर से जाने वाली सड़क का पानी आने, पुनाड़ वार्ड नं. 6 निवासी सुशील चंद्र डियूंडी ने जिला प्रशासन द्वारा अधिग्रहित दुकानों के एवज में दुकान आवंटित करने तथा वार्ड नं. 7 निवासी केवलानंद कांडपाल निवासी उनके आवास तक अधूरे रास्ते निर्माण की शिकायत दर्ज की।
मुख्य विकास अधिकारी ने संबंधित विभागों को निर्देश दिए हैं कि जनता मिलन कार्यक्रम में जो भी शिकायतें व समस्याएं दर्ज हो रही हैं उनका निराकरण त्वरित गति से करना सुनिश्चत करें। इसमें किसी भी दशा में कोई विलंब न किया जाए। शिकायतों पर की गई कार्यवाई की जानकारी जिला कार्यालय एवं संबंधित शिकायतकर्ता को अनिवार्य रूप से अवगत करवाया जाए।
इस अवसर पर जिला विकास अधिकारी अनीता पंवार, जिला कार्यक्रम अधिकारी अखिलेश मिश्रा, उप जिलाधिकारी आशीष घिल्डियाल, पुलिस उपाधीक्षक प्रबोध कुमार घिल्डियाल, जिला पूर्ति अधिकारी मनोज कुमार डोभाल, जिला युवा कल्याण अधिकारी शरत सिंह भंडारी, जिला समाज कल्याण अधिकारी हर्षवर्द्धन भट्ट, जिला पंचायत राज अधिकारी प्रेम सिंह रावत, मुख्य कृषि अधिकारी लोकेंद्र सिंह बिष्ट, अधिशासी अभियंता जल संस्थान अनीश पिल्लई, जल निगम नवल कुमार, एनएच निर्भय सिंह, महाप्रबंधक जिला उद्योग केंद्र महेश प्रकाश, अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी विमल सिंह गुसांई, खंड विकास अधिकारी ऊखीमठ सूर्यप्रकाश शाह सहित अन्य विभागीय अधिकारी व कर्मचारी एवं विभिन्न क्षेत्रों से आये ग्रामीण मौजूद रहे।