हरिद्वार: जिलाधिकारी श्री धीराज सिंह की अध्यक्षता में शुक्रवार को कलक्ट्रेट सभागार में जिला उद्योग मित्र समिति की एक बैठक आयोजित हुई।

बैठक में जिलाधिकारी को महाप्रबन्धक उद्योग श्रीमती पल्लवी गुप्ता ने प्रस्तुतीकरण के माध्यम से हरिद्वार, बहादराबाद, रूड़की तथा भगवानपुर औद्योगिक क्षेत्रों के सम्बन्ध में औद्योगिक प्रतिनिधियों द्वारा रखे गये विभिन्न प्रकरणांे के सन्दर्भ में विस्तार से जानकारी दी।
जिलाधिकारी को बैठक में औद्योगिक घरानों के प्रतिनिधियों ने सिडकुल में नये उद्योगों की स्थापना हेतु भूमि उपलब्ध कराने के सम्बन्ध में विस्तार से जानकारी दी। जिलाधिकारी द्वारा इस सम्बन्ध में आरएम सिडकुल से जानकारी लेने पर उन्होंने बताया कि औद्योगिक क्षेत्र भगवानपुर के विभिन्न क्षेत्रों में सीमांकन का कार्य प्रगति पर है। जिलाधिकारी द्वारा लालढांग स्थित भूमि के सम्बन्ध में पूछे जाने पर अधिकारियों ने बताया कि चिह्नित भूमि राजस्व अभिलेखों में वन भूमि है। इस पर जिलाधिकारी ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि वन विभाग की एनओसी प्राप्त करने के लिये एक प्रस्ताव तैयार कर प्रस्तुत करना सुनिश्चित करें। सिडकुल हरिद्वार फेस-2 के सम्बन्ध में जिलाधिकारी द्वारा जानकारी लेने पर अधिकारियों ने बताया कि इस सम्बन्ध में कार्यवाही उच्च स्तर पर गतिमान है।
बैठक में जिलाधिकारी द्वारा सिडकुल की सड़कों की स्थिति के सम्बन्ध में जानकारी ली तो अधिकारियों ने बताया कि लोक निर्माण विभाग द्वारा 70 प्रतिशत सड़कों की मरम्मत का कार्य कर दिया गया है तथा शेष सड़कों की मरम्मत शीघ्र ही की जायेगी। बैठक में सिडकुल के कई क्षेत्रों में बरसात के मौसम में जल भराव की स्थिति पर चर्चा हुई, जिस पर आरएम सिडकुल ने बताया कि सिंचाई विभाग द्वारा समस्या के निदान का कार्य प्रारम्भ कर दिया है। बैठक में औद्योगिक क्षेत्र बहादराबाद क्षेत्र में स्ट्रीट लाइटों का जिक्र आया तो अधिकारियों ने बताया कि औद्योगिक क्षेत्र बहादराबाद में 40 स्ट्रीट लाइटों का कार्य पूर्ण कर दिया गया है। इस पर जिलाधिकारी ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि अगर कहीं स्ट्रीट लाइट और स्थापित होनी है, तो उसके सम्बन्ध में प्रस्ताव प्रस्तुत करना सुनिश्चित करें।

जिलाधिकारी को समिति के सदस्यों ने बताया कि सिडकुल क्षेत्र में पीने के पानी का एक ही टैंक है, अतः एक और टैक स्थापित किया जाये। इस पर अधिकारियों ने बताया कि पानी की टंकी के लिये भूमि का निरीक्षण कर लिया गया है। आगे की कार्रवाई जल संस्थान को करनी है, जिस पर जिलाधिकारी ने जल संस्थान को निर्देश दिये कि वे एक सप्ताह में अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करना सुनिश्चित करें।

बैठक में बहादराबाद औद्योगिक क्षेत्र में पेयजल आपूर्ति हेतु ओवर हैड टैंक व पाइप लाइन डलवाने के सम्बन्ध में जिलाधिकारी द्वारा पूछे जाने पर अधिकारियों ने बताया कि इसका 45 प्रतिशत कार्य पूर्ण हो चुका है तथा कार्य प्रगति पर है। चर्चा के दौरान बहादराबाद औद्योगिक क्षेत्र में गैस प्लाण्ट के टैंकर उचित पार्किंग न होने के कारण फैक्ट्री के बाहर खड़े होने की समस्या सामने आयी। इस पर जिलाधिकारी ने सम्बन्धित विभागों के अधिकारियों को निर्देश दिये कि एक मीटिंग आयोजित करके इस समस्या का समाधान करना सुनिश्चित करें। बैठक में बहादराबाद क्षेत्र में सिडकुल द्वारा सड़कों व नालियों का निर्माण कराये जाने का अनुरोध जिलाधिकारी से औद्योगिक घरानों के प्रतिनिधियों द्वारा की गयी। इस पर अधिकारियों ने बताया कि इस सम्बन्ध में ग्रामीण निर्माण विभाग द्वारा आकलन तैयार कर सिडकुल मुख्यालय को भेज दिया गया है।

बहादराबाद औद्योगिक क्षेत्र में फायर स्टेशन के निर्माण के सम्बन्ध में जिलाधिकारी द्वारा पूछे जाने पर अग्नि शमन विभाग के अधिकारियों ने बताया कि इस सम्बन्ध में संशोधित प्रस्ताव स्वीकृति हेतु शासन को प्रेषित किया गया है। इस पर जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि इस सम्बन्ध में शासन को एक अनुस्मारक भिजवाना सुनिश्चित करें।
बैठक में हरिद्वार औद्योगिक क्षेत्र में ड्रेनेज की उचित व्यवस्था न होने की समस्या सामने आई। इस पर जिलाधिकारी ने अधिकारियों से जानकारी ली तो अधिकारियों ने बताया कि इसका टेण्डर आमन्त्रित किया जा चुका है।

औद्योगिक आस्थान रामनगर तथा सलेमपुर राजपूताना रूड़की में जल निकासी के सम्बन्ध में अधिकारियों ने बताया कि इसका सर्वेक्षण का कार्य एवं प्राप्त मानचित्र/सर्वे शीट का स्थलीय निरीक्षण किया जा चुका है तथा डीपीआर गठन का कार्य गतिमान है। इस पर जिलाधिकारी ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि कार्य में और तेजी लाई जाये। बैठक में इण्डस्ट्रियल इस्टेट रामनगर-रूड़की में बना हुआ फायर हाईड्रेण्ट के बारे मंे चर्चा हुई, जिसके सम्बन्ध में बताया गया कि यह काफी पुराना हो गया है। इस पर जिलाधिकारी ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि इस सम्बन्ध में एक बैठक करते हुये इसका भौतिक सत्यापन कर लिया जाये तथा इस कार्य को दु्रत गति से करना सुनिश्चित करें।

बैठक में औद्योगिक क्षेत्र भगवानपुर में नेशनल अथॉरिटी द्वारा भगवानपुर ग्राम रायपुर से चौली तक सर्विस सड़क के निर्माण पर चर्चा हुई। इस पर अधिकारियों ने बताया कि इसका इस्टीमेट एक पखवाड़े में हो जायेगा। सभी औद्योगिक क्षेत्रों के लिये सी0ई0टी0पी0 स्कीम पर विचार-विमर्श के दौरान जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि औद्योगिक क्षेत्रों के लिये सी0ई0टी0पी0 स्कीम के लिये अगर सरकारी भूमि चिह्नित नहीं हो पा रही है, तो प्राइवेट में भूमि की उपलब्धता पर ध्यान केन्द्रित किया जाये।

भगवानपुर-इमलीखेड़ा-बहादराबाद राज राजमार्ग को वाणिज्यिक छोटे वाहनों के लिये खोले जाने के औद्योगिक प्रतिनिधियों के अनुरोध के क्रम में जिलाधिकारी ने पुलिस अधिकारियों को इसका परीक्षण करने के निर्देश दिये। इसी तरह खराब ट्रांसफार्मरों के सम्बन्ध में जिलाधिकारी द्वारा पिटकुल के अधिकारियों से पूछे जाने पर अधिकारियों ने बताया कि 40 एमवीए के परिवर्तक की मरम्मत का कार्य मार्च,2024 तक पूर्ण कर लिया जायेगा।

इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी(वित्त एवं राजस्व) श्री दीपेन्द्र सिंह नेगी, एसडीएम श्री अजय वीर सिंह, डिप्टी कलक्टर श्री मनीष सिंह, एसपी ट्रैफिक श्री पंकज गैरोला, आर0एम0 सिडकुल श्री जी0एस0 रावत, परियोजना प्रबन्धक निर्माण एवं अनुरक्षण ईकाई(गंगा) पेयजल श्रीमती मीनाक्षी मित्तल, मुख्य कृषि अधिकारी श्री विजय देवराड़ी, कार्यकारी अध्यक्ष एसएमएयू सिडकुल डॉ0 मोहेन्द्र आहूजा, चेयरमैन एसएमएयू सिडकुल डॉ0 हरेन्द्र गर्ग, लीड बैंक मैनेजर श्री संजय सन्त, अधिशासी अभियन्ता सिंचाई श्री पी0एल0 नौटियाल, प्रतिनिधि बहादराबाद औद्योगिक क्षेत्र, प्रतिनिधि हरिद्वार औद्योगिक क्षेत्र, प्रतिनिधि औद्योगिक क्षेत्र रूड़की/सलेमपुर, प्रतिनिधि भगवानपुर औद्योगिक क्षेत्र सहित सम्बन्धित पदाधिकारी एवं अधिकारीगण उपस्थित थे।