भाजपा प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट द्वारा कांग्रेसियों को राक्षसी प्रवृत्ति का कहे जाने पर उत्तराखंड कांग्रेस की मुख्य प्रवक्ता गरिमा मेहरा दसौनी ने भट्ट को अपनी हद में रहने को कहा है। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष के बयान पर विज्ञप्ति जारी करते हुए दसौनी ने कहा कि भाजपा प्रदेश अध्यक्ष राजनीति के निम्नतम स्तर पर पहुंच चुके हैं। महेंद्र भट्ट की बयान बाजी उनकी ओछी और छोटी मानसिकता की दिखाती है। दसौनी ने कहा की महेंद्र भट्ट अपनी गंदी और घिनौनी बयान बाजी से अपने ही संस्कारों का परिचय दे रहे हैं। दसौनी ने कहा कि लोकतंत्र में जितना सत्ता पक्ष महत्वपूर्ण है उतना ही महत्वपूर्ण विपक्ष भी है और देश और प्रदेश में मुख्य विपक्षी दल होने के नाते महेंद्र भट्ट को कांग्रेस के प्रति सम्मानजनक शब्दावली में बात करनी चाहिए। दसौनी ने कहा कि कांग्रेस का तो एक वृहद और गौरवशाली इतिहास है आजादी की लड़ाई से लेकर आज तक कांग्रेस ने देश के लिए बहुत सारा योगदान और बलिदान दिया है परंतु महेंद्र भट्ट बताएं कि भाजपा और आरएसएस कि देश के लिए अंग्रेजों की मुखबिरी के अलावा क्या भूमिका रही है?दसौनी ने कहा कि कांग्रेस के लिए तो राजनीतिक सुचिता और मानवता को सर्वोपरि है परंतु सबसे अधिक अधर्मी तो महेंद्र भट्ट जैसे लोग हैं जो कुलदीप सेंगर, चिन्मयानंद ,बृजभूषण शरण सिंह,पूर्व संगठन महामंत्री संजय कुमार द्वाराहाट विधायक महेश नेगी और अब वर्तमान संगठन महामंत्री के कुकर्मों पर जिस तरह से भाजपा प्रदेश अध्यक्ष समेत समूची भाजपा ने चुप्पी साधे रखी उसका जवाब जनता शीघ्र देगी। दसौनी ने महेंद्र भट्ट को याद दिलाते हुए कहा कि देवस्थानम बोर्ड के गठन के समय किस तरह से पंडा पुरोहित समाज खुद को अपमानित महसूस कर रहे थे उस वक्त भी महेंद्र भट्ट उसी जिले के होते हुए भी धृतराष्ट्र बने हुए थे। दसौनी ने कहा केदारनाथ धाम से 200 किलो सोना चोरी हो गया जांच तो दूर महेंद्र भट्ट के मुंह से शब्द नहीं निकला ।आज अंकिता भंडारी हत्याकांड में अंकिता को न्याय क्यों नहीं मिला इस सवाल का जवाब महेंद्र भट्ट तो क्या भाजपा में किसी के पास नहीं है। दसौनी ने कहा कि कोरोना काल में महेंद्र भट्ट की जहरीली बयान बाजी से पूरा प्रदेश वाकिफ है,उन्हें खुद अपने गिरेबान में झांकना चाहिए।
दसौनी ने महेंद्र भट्ट के बयान को लानत भेजते हुए कहा की धर्म की आड़ में सबसे बड़े अधर्मी तो भाजपाई हैं जो भगवान राम का नाम लेकर अपने द्वारा किए गए कुकर्मों और शोषण पर पर्दा डालना चाहते हैं। दसौनी ने कहा कि आज महेंद्र भट्ट के दल की सरकार होते हुए भी सभी हिमालयी राज्यों में उत्तराखंड महिला अपराध में नंबर वन बन गया ऐसे में इस बात की पुष्टि हो चुकी है की राक्षसी प्रवृति के लोग किस दल में हैं। दसौनी ने महेंद्र भट्ट को चुनौती देते हुए कहा की यदि भट्ट रिसर्च करेंगै तो पाएंगे की लोकसभा से लेकर विधानसभाओं तक सबसे ज्यादा आपराधिक पृष्ठभूमि के लोग आज भाजपा में शामिल हैं।