श्री रामजन्मभूमि अयोध्या में पुर्नस्थापित भव्य दिव्य श्री राम मंदिर में भगवान रामलला की प्राण प्रतिष्ठा समारोह का निमंत्रण पत्र जूना पीठाधीश्वर आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी अवधेशानंद गिरि महाराज को विश्व हिन्दू परिषद उत्तराखण्ड के प्रांत संगठन मंत्री अजय कुमार ने दिया। अवधेशानंद गिरि महाराज ने प्राण प्रतिष्ठा के निमंत्रण पत्र पर अत्यंत हर्ष प्रकट किया और 22 जनवरी को अयोध्या आगमन पर सहमति प्रदान की।

स्वामी अवधेशानंद गिरि महाराज ने निमंत्रण पत्र को प्राप्त हुए कहा यह मेरे लिए अत्यंत गौरव का विषय है, सदियों का संघर्ष अब अयोध्या में प्रत्यक्ष साकार रुप में फलीभूत होता दर्शित हो रहा है। भारत के कण-कण में राम हैं। राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा ने भारत की सुप्त आत्मा को जागृत करने का काम किया है। राम मंदिर के निर्माण से सशक्त राष्ट्र का निर्माण होने वाला है। राम मंदिर के निर्माण से भारत में रामराज्य आने वाला है। भारत की जयजयकार दुनिया में हो रही है। यह वास्तव में भारत की सुप्त आत्मा है। यही भारत को दुनिया के अंदर सर्वशक्तिशाली बनायेगी। भारत के प्रत्येक व्यक्ति के मन में जो रामभक्ति है वहीं राष्ट्रभक्ति है, उसको हम नमन करते हैं। राजनीति तोड़ने का कार्य करती है, धर्म जोड़ता है। राम मंदिर ने देश को जोड़ दिया है।

अजय कुमार प्रांत संगठन मंत्री विश्व हिन्दू परिषद उत्तराखण्ड ने कहा आज वर्तमान समय की महती आवश्यकता है कि हमें छुआछूत, ऊंचनीच, जातिगत भेदभाव छोड़ देने चाहिए। हम सब राम के हैं राम हमारे हैं। हम सब एक हैं। इस भाव के जागरण की बहुत आवश्यकता है। अपने निजी स्वार्थों को छोड़कर देश और धर्म के लिए जीने के लिए जरूरत है। हम संपूर्ण विश्व का मार्गदर्शन कर सकें ऐसे भारत का निर्माण हमें करना है।

इस अवसर पर स्वामी नित्यानंद महाराज, डा. यतींद्र नाग्यान जिला संघ चालक राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ हरिद्वार, अनुज वालिया प्रांत संयोजक बजरंग दल उत्तराखण्ड, बलराम कपूर विभाग अध्यक्ष विश्व हिन्दू परिषद हरिद्वार, नवीन तेश्वर प्रांत सुरक्षा प्रमुख बजरंग दल उत्तराखण्ड भी उपस्थित रहें.