जिलाधिकारी सौरभ गहरवार की अध्यक्षता में विकास भवन सभागार में जन संवाद/जनता मिलन कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस अवसर पर विभिन्न विभागों से संबंधित कुल 32 शिकायतें दर्ज की गई। इनमें 14 शिकायतों का मौके पर ही निराकरण किया गया जबकि शेष शिकायतों का निस्तारण करने के लिए संबंधित विभागों को प्रेषित किया गया।
आयोजित जनता मिलन कार्यक्रम में दशज्यूला क्षेत्र के जन प्रतिनिधियों ने कोटखाल-जरम्वाड़-घटुड़ा नामक तोक में सड़क मिलान का कार्य प्रारंभ न होने की शिकायत दर्ज करते हुए यथाशीघ्र संयुक्त निरीक्षण कर कार्य शुरू करवाने की मांग की। दैजीमांडा निवासी अनूप ममगांई ने शिकायत दर्ज करते हुए कहा कि बीते नवंबर माह में उनके आवासीय छत का हिस्सा टूटने संबंधी शिकायत दर्ज करने के बावजूद अभी तक कोई कार्यवाही नहीं की गई है। पाटियूं के ग्रामीणों ने राजकीय प्राथमिक विद्यालय जोला-बडे़थ में अध्ययन कार्य के निम्न स्तर पर आने, तिलवाड़ा (वार्ड नं. 3) निवासी गोविंद सिंह जगवाण ने एनएच के तहत कटिंग खेतों के संबंध में राजस्व निरीक्षक द्वारा दी गई रिपोर्ट न्यायोचित न होने जबकि छतोड़ा गांव की कश्मीरा देवी ने उन्हें मानक के अनूसार विधवा पेंशन न मिलने की शिकायत दर्ज की। समन सिंह बुटोला ने लोंगा बैंड-धनोली निर्माणाधीन मोटर मार्ग से संबंधित पूर्व में स्वीकृत ग्रेड, एलायमेंट व लेवल के अनुसार कटान की स्वीकृति हेतु निर्देश दिए जाने के संबंध में प्रार्थना-पत्र दिया। सल्या गांव की दिव्या ने वर्ष-2020 में इंटरमीडिएट की परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद भी नंदा गौरा कन्या धन योजना का लाभ न मिलने, किमांणा के मदन लाल ने नया विद्युत मीटर लगाने, गिंवाला के अनसूया प्रसाद मलासी ने अंधेरगढ़ी-धारतोंदला मोटर मार्ग निर्माण से गांव के पैदल मार्ग क्षतिग्रस्त होने सहित गिंवाला मल्ला में सुरक्षा दीवार, सड़क डामरीकरण व नाली निर्माण आदि संबंधी समस्याओं से अवगत कराया। डडोली निवासी दरवान सिंह ने प्रधानमंत्री आवास दिलाए जाने तथा जवाड़ी गांव की उमा देवी ने मनरेगा में किए गए कार्य का भुगतान न किए जाने की शिकायत दर्ज की गई। इस तरह आयोजित जनता दरवार में कुल 32 शिकायतें दर्ज की गई जिसमें 14 शिकायतों का मौके पर ही निराकरण किया गया। साथ ही शेष शिकायतों को निराकरण हेतु संबंधित विभागों को प्रेषित किया गया।

जिलाधिकारी ने गोविंद सिंह जगवाण की शिकायत के संबंध में तहसीलदार को निर्देश दिए हैं कि मौके पर जाकर निरीक्षण कर सही नपत की जाए तथा इसके साथ नक्शा भी संलग्न करने के निर्देश दिए। उन्होंने उपजिलाधिकारियों एवं तहसीलदारों को निर्देशित करते हुए कहा कि भूमि संबंधित मामलों पर जो भी रिपोर्ट लगाई जाती है उसके नक्शे के साथ रिपोर्ट तैयार कर प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। विधवा पेंशन प्रकरण पर समाज कल्याण अधिकारी को निर्देश दिए हैं कि समाज कल्याण अधिकारी एवं सहकारिता निबंधक को पेंशन संबंधी पूर्ण विवरण दो दिनों में उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। उन्होंने मुख्य विकास अधिकारी को निर्देश दिए हैं कि जो भी मैपिंग की गई है उसमें कितनी वन भूमि है तथा कैमल फाइल के माध्यम से आवश्यक कार्यवाही के निर्देश दिए। दैजीमांडा गांव के रेलवे लाइन से क्षतिग्रस्त हुए घरों के संबंध में उन्होंने निर्देश दिए हैं कि क्षतिग्रस्त आवासों के संबंध में एक सप्ताह के भीतर सही रिपोर्ट उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। अंधेरगढ़ी-धारतोंदला मोटर मार्ग के संबंध में जिलाधिकारी ने अधिशासी अभियंता को दो दिन के भीतर मौके का स्थलीय निरीक्षण करते हुए आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने संबंधित विभागों को निर्देश दिए हैं कि जनता मिलन कार्यक्रम में जो भी शिकायतें व समस्याएं दर्ज हो रही हैं उनका निराकरण त्वरित गति से करना सुनिश्चित करें। इसमें किसी भी दशा में कोई विलंब न किया जाए। शिकायतों पर की गई कार्यवाई की जानकारी जिला कार्यालय एवं संबंधित शिकायतकर्ता को अनिवार्य रूप से अवगत करवाया जाए।
सीएम हेल्पलाइन में दर्ज शिकायतों की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी ने संबंधित विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि एल-1 एवं एल-2 के स्तर पर जो भी शिकायतें लंबित हैं उनका निस्तारण तत्परता से करना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि विभिन्न विभागों में एल-1 पर 122 तथा एल-2 पर 36 शिकायतें निस्तारण हेतु लंबित हैं। जिलाधिकारी ने सीएम हेल्पलाइन में प्राप्त शिकायतों का निस्तारण भी शीघ्रता से सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। इसमें किसी भी प्रकार की कोई ढिलाई न बरती जाए।

इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी नरेश कुमार, जिला विकास अधिकारी अनीता पंवार, पुलिस उपाधीक्षक हर्षवर्धनी सुमन, उप जिलाधकारी ऊखीमठ अनिल कुमार शुक्ला, तहसीलदार रुद्रप्रयाग राम किशोर ध्यानी, जखोली बीएल शाह, जिला सैनिक कल्याण अधिकारी यूएस रावत, जिला कार्यक्रम अधिकारी अखिलेश मिश्रा, महाप्रबंधक उद्योग महेश प्रकाश, अधिशासी अभियंता एनएच निर्भय सिंह, लोनिवि इंद्रजीत बोस, मुख्य कृषि अधिकारी लोकेंद्र सिंह बिष्ट, जिला उद्यान अधिकारी योगेंद्र सिंह चैधरी, जिला पूर्ति अधिकारी मनोज कुमार डोभाल, परियोजना अधिकारी उरेड़ा राहुल पंत, शिकायत प्रकोष्ट प्रभारी विनोद कुमार सहित अन्य विभागीय अधिकारी व कर्मचारी एवं विभिन्न क्षेत्रों से आए ग्रामीण मौजूद रहे।