जिलाधिकारी रीना जोशी ने कलैक्ट्रेट सभागार में मासिक स्टाफ बैठक लेते हुए कानून व्यवस्था, राजस्व वसूली, वाद निस्तारण की विस्तृत समीक्षा की। उन्होंने राजस्व अधिकारियों को निर्देश दियें कि वे वादों का त्वरित निस्तारण करें तथा पुराने वादों में जल्द डेट लगाकर प्राथमिकता से निस्तारण करना सुनिश्चियत करें। उन्होंने कहा कि राजस्व वसूली पर विशेष ध्यान दें तथा जो आरसी प्राप्त हो रही है उनकी त्वरित वसूली की जाए।

जिलाधिकारी ने राजस्व व नियमित पुलिस को विभिन्न न्यायालयों से प्राप्त सम्मन, नोटिस, वांरट आदि की व्यक्तिगत तामिली का प्रयास करने के निर्देश दिये, ताकि संबंधितों के मा0 न्यायालयों में उपस्थित होने से वादों के निस्तारण में गति आ सके। उन्होंने राजस्व वसूली में विशेष ध्यान देने के निर्देश दिये, ताकि शतप्रतिशत वसूली समय से हो सके तथा बड़े बकायेदारों से सख्ती से वसूली करने के निर्देश भी दिये।
जिलाधिकारी ने पेंशन ,आडिट आपत्ति, सूचना अधिकार, चरित्र सत्यापन, मुख्यमंत्री कार्यालय, राजस्व परिषद, शासन न्यायालय के संदर्भों पर त्वरित कार्यवाही कर निस्तारण करना सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने कहा कि सीएम हेल्पलाइन ,सेवा अधिकार अधिनियम के अन्तर्गत सभी अधिकारी निर्धारित समय पर कार्य सम्पादित किये जाने हेतु व्यक्तिगत ध्यान देने के निर्देश दिये ताकि अधिनियम की व्यवस्था के तहत आम नागरिकों को सेवाओं का समुचित लाभ ससमय मिल सके।

जिलाधिकारी ने शतप्रतिशत वसूली के निर्देश दिये। उन्होंने आबकारी अधिकारी को लक्ष्य प्राप्त करने के निर्देश दिये तथा कहा जिन मदिरा दुकानों का अधिभार अभी लंबित है उनसे शीघ्र वसूली की जाए।

बैठक में एसडीएम आशीष कुमार मिश्रा, मनजीत सिंह,भगत सिंह फोनिया, श्रेष्ठ घुंसोला सीओ महेंद्र पंत,एआरटीओ कृष्ण चंद्र पलाडिया,जिला आबकारी अधिकारी हरीश चंद्र , खान अधिकारी हरीश नेगी , तहसीलदार आदि अधिकारी उपस्थित थे!