वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून द्वारा पुलिस कार्यालय देहरादून में जनपद देहरादून के समस्त राजपत्रित अधिकारियों एवं थाना प्रभारियों के साथ मासिक अपराध गोष्ठी की गई। गोष्ठी के दौरान महोदय द्वारा अपराधों की समीक्षा के साथ-साथ उपस्थित अधिकारियों को स्मार्ट पुलिसिंग के गुर सिखाते हुए अपराधों के अनावरण में आधुनिक तकनीकों के अधिक से अधिक इस्तेमाल करने पर ज़ोर देते हुए निम्न दिशा-निर्देश दिये गये।

01: वर्तमान परिदृश्य में बढते अपराध तथा अपराधियों पर प्रभावी अंकुश लगाने हेतु सभी थाना प्रभारियो को अपने-अपने थाना क्षेत्रों में नियमित रूप से सत्यापन चलाते हुए संदिग्ध व्यक्तियों के विरूद्ध प्रभावी कार्यवाही किया जाये।

02: यातायात के सुचारू संचालन हेतु जनपद में अस्थाई अतिक्रमण को हटाये जाने हेतु आरम्भ किये गये अभियान में अत्यधिक वीआईपी प्रोग्राम होने के कारण थोडा अवरोध उत्पन्न हो गया था, जिसे पुन: आरम्भ कर यथाशीघ्र अस्थाई अतिक्रमण को हटाये जाने के विरूद्ध प्रभावी कार्यवाही की जाये।

03: श्रीमान पुलिस महानिदेशक उत्तराखण्ड महोदय द्वारा पुलिस कर्मियों के ड्यूटी के दौरान लगातार मोबाइल फोन का उपयोग करने तथा उच्चाधिकारीगणों को नियमानुसार अभिवादन नहीं किये जाने के सम्बन्ध में अत्यंत रोष प्रकट किया गया है। अत: सभी अधिनस्थ कर्मी ड्यूटी के दौरान उक्त निर्देशों का कडाई से पालन करना सुनिश्चित करें। इसमें किसी भी प्रकार की शिथिलता बरतने वाले कर्मी के विरूद्ध कठोर दण्डात्मक कार्यवाही की जायेगी।

04: ड्यूटी के दौरान सभी पुलिस कर्मी उच्च कोटी के टर्नआउट का पालन करें तथा अपने व्यवहार को संयमित रखते हुए पूरी दृढता से अपने कर्तव्यों का पालन करें।

05: सभी थाना प्रभारी अपने-अपने थाना क्षेत्रों में फड/ठेली/फेरी लगाने वालों का व्यापक सत्यापन करें तथा समय-समय पर थाना क्षेत्रों में सत्यापन अभियान अनिवार्य रूप से चलाया जाए। अस्थाई अतिक्रमण को हटाने हेतु सम्बन्धित प्रभारी/थानाध्यक्ष का सम्पूर्ण उत्तरदायित्व निर्धारित किया जायेगा तथा इस दिशा में प्रभावी कार्यवाही नहीं करने वाले प्रभारी अधिकारियों के विरूद्ध कठोर कार्यवाही की जायेगी।

06: सभी प्रभारी यह सुनिश्चित करें कि अपने-अपने थाना क्षेत्रों में नये व पुराने गैंगस्टर एक्ट के अपराधियों/सफ़ेदपोशों की सम्पत्ति के जब्तीकरण हेतु यथाशीघ्र प्रभावी कार्यवाही की जाए। इसमें किसी भी प्रकार की शिथिलता अथवा कोताही बरतने वाले प्रभारी के विरूद्ध कार्यवाही की जायेगी।

07: सभी थाना प्रभारियों को गौकशी, पशु क्रूरता तथा अवैध पशु कटान में लिप्त अपराधियों के विरूद्ध सख्त से सख्त कार्यवाही करने के निर्देश दिये गये, साथ ही स्पष्ट किया कि उक्त पृवृत्ति के अपराधों को किसी भी दशा में बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। यदि किसी थाना क्षेत्र में अवैध रूप से पशु कटान, गौकशी या अवैध मांस की बिक्री से सम्बन्धित शिकायतें प्राप्त होती हैं तो सम्बन्धित थाना प्रभारी के विरूद्ध कार्यवाही की जायेगी।

08: रात्रि वाहन चैकिंग के दौरान एल्कोमीटर का नियमित रूप से प्रयोग किया जाये।

09: ड्रोन कंट्रोल रूम से प्राप्त होने वाली समस्त सूचनाओं पर त्वरित कार्यवाही करना सुनिश्चित किया जाये।