जनपद में यातायात व्यवस्था को और अधिक सरल, सुगम व व्यवस्थित बनाने के लिए सभी आवश्यक कदम उठाये जायें। यह निर्देश जिलाधिकारी धीराज सिंह गर्ब्याल ने जिलाधिकारी कार्यालय में बैठक लेते हुए एनएचएआई, लोनिवि तथा नगर निगम के अधिकारियों को दिये।
उन्होंने निर्देशित करते हुए कहा कि नेशनल हाईवे के किनारों से अतिक्रमण को हटाया जाये तथा अतिक्रमण के सम्बन्ध में न्यायालय द्वारा जारी आदेशों का भी अनुपालन सुनिश्चित किया जाये। उन्होंने निर्देश दिये कि अतिक्रमण हटाने से पूर्व की तथा अतिक्रमण हटाने के बाद की फोटोग्राफी अवश्य कराई जाये। उन्होंने निर्देशित करते हुए कहा कि 15 दिन के भीतर पुनः अतिक्रमण चिन्हित करते हुए प्रभावी कार्यवाही सुनिश्चित की जाये।
उन्होंने निर्देशित करते हुए कहा कि विकास अनवरत् चलने वाली सतत् प्रक्रिया है, इस वर्ष कावड़ मेले को पिछले वर्ष की तुलना में और अधिक सुविधा जनक बनाया जाये। उन्होंने निर्देशित करते हुए कहा कि बाहर से आने वाले व्यक्तियों को पार्किंग आदि की जानकारी के लिए विभिन्न चिन्हित स्थानों पर पार्किंग तथा विभिन्न स्थानों के दिशा-सूचक रेट्रोरिफ्लेक्टिंग हॉर्डिग्स लगाने के निर्देश नगर निगम तथा एनएच के अभियंताओं को दिये। उन्होंने एनएचएआई, लोनिवि तथा पुलिस विभाग के अधिकारियों को संयुक्त निरीक्षण करने के निर्देश दिये। उन्होंने पार्किंग तथा यातायात व्यवस्था को और अधिक सरल व सुलभ बनाने के लिए पन्तदीप पार्किंग से जल संस्थान तक 7 मीटर चौड़ी स्लिप रोड एवं सर्विस रोड निर्माण कराने के निर्देश एनएचएआई के अधिकारियों को दिये। उन्होंने पन्तदीप पार्किंग (चमगादड़) टापू क्षेत्र के रास्तों को स्मूथ करने, पार्किंग स्थल को शतप्रतिशत उपयोग में लाने हेतु आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश सम्बन्धित अधिकारियों को दिये। उन्होंने रोड़ी बैलवाला चौकी के सामने दिशा-सूचक साइन बोर्ड लगाने के निर्देश सम्बन्धित अधिकारियों को दिये। उन्होंने निर्देशित करते हुए कहा कि वीआईपी घाट के मुख्य मार्ग पर स्थित गैट को बन्द कर दिया जाये तथा वीआईपी घाट के लिए निचले गैठ से प्रवेश दिया जाये ताकि हाईवे पर जाम की स्थिति उत्पन्न न हो। उन्होंने केशव आश्रम के सामने, आयरिश पुल एवं अण्डर पास के नीचे सड़क मरम्मत कार्य कराने के निर्देश सम्बन्धित अधिकारियों को दिये।
बैठक में एसपी क्राईम एवं यातायात पंकज गैरोला, अपर जिलाधिकारी पीएल शाह, उप जिलाधिकारी उदयवीर सिंह, सिटी मजिस्ट्रेट कुश्म चौहान, सचिव एचआरडीए उत्तम सिंह चौहान, अधिशासी अभियंता लोनिवि सुरेश तोमर, डिप्टी मैनेजर एनएचएआई अमित शर्मा, एसएनए श्याम सुन्दर प्रसाद सहित एनएचएआई के सम्बन्धित अधिकारी आदि उपस्थित थे।